Sushant Singh ne aatmhatya kyon kar li - Why do people commite suicide ?

Sushant Singh ne aatmhatya kyon kar li - Why do people commite suicide ? in hindi

जब हमारे दिमाग में negativity का घड़ा भर जाता है और positivity खत्म हो जाती है तब depression create होने लगता है। दोस्तों आपके जीवन में भी कहीं ना कहीं ऐसा time आया होगा जब आपको बहुत ज्यादा bad feel हुआ होगा। लेकिन कुछ लोगों का depression इतना ज्यादा होता है कि उनमें जीवन जीने की उम्मीदें खत्म हो जाती है।

Depression एक ऐसी चीज होती है जिसमें आप कितनी भी positivity से रहना चाहो फिर भी negativity आपके दिमाग पर हावी हो जाती है। हमारा स्वभाव धीरे-धीरे चिड़चिड़ा हो जाता है और हमें बात बात पर गुस्सा आता है और कभी तो हमारा दिमाग पूरी तरह से चलना बंद हो जाता है और ऐसा लगता है कि बस अब जिंदगी खत्म हो जाएगी।

ऐसा ही कुछ हुआ था Bollywood actor सुशांत सिंह राजपूत के साथ। वो बहुत ही जिंदादिल व्यक्ति थे। उन्होंने जो यह गलत कदम उठाया है वो शायद उनकी personality से match नहीं करता है। लेकिन क्या ऐसा हुआ जिससे उन्होंने जीने की उम्मीद छोड़ दी।

Sushant Singh Rajput

आज मैं आपको वह सारी बातें बताने वाला हूं जिनसे सुशांत सिंह राजपूत जैसे कई सारे जिंदादिल लोग depression में आकर जीने की उम्मीद ही छोड़ देते हैं।

दोस्तों problem हर उस व्यक्ति के साथ होती है जो खुद के दम पर अपनी जिंदगी जीना चाहता है। अगर आप अपनी life अपने दम पर, अपने तरीके से जीना चाहते हैं तो 100 percent guarantee है कि आपकी life में कई सारी छोटी बड़ी problems आएगी।

जिंदगी में हमेशा आप जैसा चाहेंगे वैसा ही होगा ये कभी नहीं हो सकता। कभी-कभी आप जैसा सोचते हैं उसका उल्टा ही होता है।

जब किसी की अपनी उम्मीदें होती हैं, अपने सपने होते हैं जिन्हें पूरा करने में वो कई problems से गुजरता है और उन प्रॉब्लम्स के बदौलत उसे success नहीं मिलती है। तो यह कारण बन जाता है mental depression का।

जो लोग इन बड़ी problem को solve करने की ताकत रखते हैं उनके लिए उस problem के बाद बहुत बड़ी success इंतजार कर रही होती है।

अगर आप यह सोचते हैं कि हर problem का solution money होता है तो सुशांत सिंह राजपूत तो एक मशहूर अभिनेता थे जिनके पास इतनी दौलत थी जिससे वे अपनी जरूरतों को आसानी से पूरा कर सकते थे फिर भी उन्होंने अपनी life को क्विट क्यों किया।

मतलब की depression का connection directly money से नहीं होता है। इसके अलावा और भी कई सारी problems होती है जो depression को create करती है।

Depression एक ऐसी virtual mentality होती है जिसका real life में कोई भी physical अस्तित्व नहीं होता है। Depression का सबसे बड़ा कारण होती है आपकी सोच और आपके आसपास का वातावरण।

व्यक्ति बार-बार वही सोचेगा जो उसके आसपास चल रहा होता है या फिर जो उसकी mental condition को टॉर्चर करता हो।
यह आपके साथ भी हमेशा होता है। जो आपके आसपास  activities होती है या तो वह आपकी सोच में बार-बार आएगी. या फिर ऐसी feelings जो आपको टॉर्चर करती हो वो आपके दिमाग में pictures के रूप में बार-बार show होगी।

अगर आपके आसपास ऐसी चीजें हो रही है जो आपको अच्छी लगती हो तो फिर आपको उस वक्त के लिए अच्छा feel होता है लेकिन जैसे ही आपके आस पास कोई ऐसी गतिविधि हो रही हो जो आपको अच्छी नहीं लगती है तो फिर आपके दिमाग में गलत धारणाएं उत्पन्न होती है और सारी पुरानी negative बातें आपके दिमाग में वापस से revise होने लगती है।

ये होती है mentally depressed Create होने की stage, जोकि अगर लंबे समय तक बार-बार घटित होती है तो depression बहुत ज्यादा लेवल तक बढ़ जाता है और लोग जीने की उम्मीद छोड़ देते हैं।

यही चीज सुशांत सिंह राजपूत के साथ भी हुई है। वो जहां भी गए उनको हमेशा Bollywood industry में लोगों ने नीचा दिखाने की कोशिश की हैं। जिसका बहुत बड़ा प्रभाव उनकी निजी life में पड़ा था और यह कुछ ही समय तक नहीं बल्कि लंबे समय तक चलता रहा। जिसके कारण उनकी depression level काफी increase हो गई और उन्होंने जीने की उम्मीद छोड़ दी। वो जितना depression को सहन कर सकते थे उतना उन्होंने किया और अंत में हमेशा हमेशा के लिए दुनिया को अलविदा कह गए।

हालांकि उन्होंने इस depression से निकलने के लिए कई सारे medical courses join किए फिर भी depression इतना ज्यादा था कि मनोचिकित्सक उनका इलाज नहीं कर पाए।
जब व्यक्ति के जीवन में लगातार problem create होती है तो कई सारे chemical bonds मस्तिष्क में बनना शुरू हो जाते हैं जिनसे हजारों लाखों कोशिकाएं उत्पन्न होती है जो negativity को बढ़ावा देती है।

अगर व्यक्ति किसी बड़ी problem से लंबे समय तक गुजर रहा होता है तो ऐसे में वह अपनी feelings को किसी से share नहीं करता है और अंदर ही अंदर बहुत ज्यादा depressed हो जाता है।

अगर कोई व्यक्ति depression में है तो उसे क्या करना चाहिए जिससे उसका depression लेवल कम हो और वो normal condition में आ सके। इस topic पर चलिए हम बात करते हैं।

जैसा कि मैंने बताया कि किसी भी व्यक्ति के depression का कारण उसके आसपास का वातावरण या उसकी सोच होती है। तो सबसे पहले हमें अपने आसपास के वातावरण और सोच को सुधारना है। चलिए detail में समझते हैं।

अगर आप depression में है तो सबसे पहले आप किस कारण से depression में है यह पता होना चाहिए। क्योंकि अक्सर लोग depression का कारण क्या है वो clear नहीं समझ पाते हैं क्योंकि life में problem बहुत सारी होती है।

अब इसके बाद आपको अपने आसपास के वातावरण को चेंज करना है। मतलब कि अगर आपके आसपास ऐसी गतिविधियां हो रही है या ऐसे लोग हैं जिनसे आपके दिमाग में negativity उत्पन्न हो रही हो तो सबसे पहले आप उस वातावरण या उन लोगों से दूर रहे।

आप ऐसी जगहों पर चले जाइए जहां का वातावरण बिल्कुल शांत हो मतलब कि जहां पर आपको  disturb करने वाला कोई ना हो। कुछ दिनों तक आप ऐसी जगहों पर घूमिए, जहां का प्राकृतिक सौंदर्य बहुत अच्छा हो और आपके मन को शांति मिले।

इससे आपके दिमाग में चलने वाली negative thinking का पावर खत्म हो जाएगा और नई positive कोशिकाएं उत्पन्न होने लग जाएगी। ये एक मनोवैज्ञानिक इलाज है किसी भी depression से बाहर निकलने का। क्योंकि दोस्तों आपके दिमाग की सोच आसपास चल रही गतिविधियों से ही related होती है।

कुछ दिनों तक आप ऐसे लोगों के साथ रहिए जो उनकी problems को आपके साथ शेयर करना चाहते हैं या जो लोग आप ही की तरह depression के शिकार है। क्योंकि इससे आपको यह विश्वास हो जाएगा की problems सिर्फ आप ही को नहीं बल्कि आप जैसे कई सारे लोगों को भी होती हैं। 

और यह जानने के बाद आपके मन को कुछ हद तक संतुष्टि मिलेगी और आप गलत कदम नहीं उठाएंगे। यह भी एक अच्छा तरीका होता है depression के लेवल को decrease करने का।

आप हमेशा ऐसे लोगों से दूर रहिए जो लोग आपके depression का कारण बनते हैं। मतलब कि जिन लोगों के कारण आपका depression create होता है उन लोगों से आप दूर रहिए।

इससे आपके दिमाग में नेगेटिव सूक्ष्म कोशिकाएं उत्पन्न नहीं होगी और आपके मस्तिष्क में धीरे धीरे depression लेवल कम होता चला जाएगा। इससे आपके मस्तिष्क के कई सारे बंद दरवाजे खुल जाएंगे और आप अपने जीवन की शुरुआत अच्छी सोच के साथ कर पाएंगे।

सुशांत सिंह राजपूत का तो अपना कुछ अलग problem था लेकिन ज्यादातर depressed लोगों का प्रॉब्लम उनकी family से related ही होता है।

पारिवारिक झगड़े, जलन भावना, selfishness, आदि जैसे कई सारे family problems होते हैं जो ज्यादातर लोगों के डिप्रेशन का कारण बनते हैं। मेरे द्वारा बताई गई tricks को अगर आप अपने जीवन में हमेशा depression के समय इस्तेमाल करेंगे तो आप कभी भी किसी भी प्रॉब्लम का निवारण आसानी से कर सकेंगे।

Problems हर व्यक्ति के जीवन में होती है लेकिन give up उनका solution नहीं होता है। अगर आप हिम्मत करके अपनी सूझबूझ से किसी भी problem का निवारण ढूंढेंगे तो आपकी लाइफ उलझने की जगह सुलझेगी और आप हमेशा खुशी-खुशी अपना जीवन बिताएंगे।

दोस्तो मुझे उम्मीद है कि मेरे द्वारा बताई गई सारी Information आपको समझ में आ गई होगी और आपको मेरा यह article पसंद भी आया होगा।

 अगर आपको मेरी यह वेबसाइट अच्छी लगी हो तो नीचे दिए गए red colour के Bell icon को Press जरूर करें क्योंकि आपका एक Subscribe हमें एक नया वीडियो बनाने में Motivate करता है।

अगर आपको मेरी यह Post अच्छी लगी हो या इससे आपको कुछ सीखने को मिला हो तो इस article को लाइक करें और हो सके तो अपने जरूरतमंद दोस्तों को यह post शेयर करें ताकि उन्हें कुछ मदद मिल सके।

Audience को सही Information पहुंचाना हमारा काम है और सही website को follow करना Audience का काम है। तो उम्मीद है कि आप अपना कार्य इमानदारी से करेंगे।

आर्टिकल को पढ़ने के लिए दोस्तों बहुत-बहुत धन्यवाद!
जय हिंद जय भारत!

Post a Comment

NOTE :- Please do not enter any spam link in the comment box.

Previous Post Next Post